Sharabi Status | Sad Sharabi Status in hindi | Sharabi Shayari

By | June 12, 2020

Sharabi Status:-Enjoy the Latest Collection of Sharabi Status, Sad Sharabi Status in hindi, Sharabi Shayari, ,Because everyone wants different Status for Social Share.

Sharabi Status

Sharabi Status

आशिकों को मोहब्बत के अलावा अगर कुछ काम होता
तो मैखने जाके हर रोज़ यूँ बदनाम ना होता
मिल जाती चाहने वाली उससे भी कहीं राह में कोई
अगर कदमों में नशा और हाथ में जाम ना होता

 

 

raat chup chaap hai pr chaand khamosh nhi
kaise keh dun ki aaj phir hosh nhi
aise duba hun mein tumhari aankhon mein
haath me jaam hai jaam hai par pine shuak nahi

 

 

तौहीन न करना कभी कह कर कड़वा शराब को
किसी ग़मजदा से पूछो इसमें कितनी मिठास है

 

 

Mahafil Main Iss Kadar Peene Ka Daur Tha,

 Humko Pilane Ke Liye Sabka Jor Tha

Pee Gaye Hum Ithni Yaarom Ke Kehane Par,

 Na Apna Gaur Tha Na Zamaane Ka Gaur Tha

 

 

Ye Na Poochh Main Sharabi Kyun Hua, Bas Yoon Samajh Le,
Ghamo Ke Bojh Se, Nashe Ki Botal Sasti Lagi.

 

 

पी है शराब हर गली की दुकान से
दोस्ती सी हो गयी है शराब की जाम से
गुज़रे है हम कुछ ऐसे मुकाम से
की आँखें भर आती है मोहब्बत के नाम से

 

 

Ek Naam Ulfat Ke Naam

Ek Naam Mohabath Ke Naam

Ek Naam Wafa Ke Naam

Poori bottle Bewafa Ke Naam

Aur Poora Theka dosthon Ke Naam

 

 

 

Pee chuke hain sharaab hum har gali har dukaan se,
Ek rishta sa ban gaya hai sharaab ke jaam se,
Paaye hain zakhm humne ishq mein aise,
Ki nafrat si ho gayi hai humein ishq ke naam se !!

 

 

Mausum Bhi Hai Sharab Bhi Hai
Pehlu Mein Wo Ishq Mehtab Bhi Hai
Duniya Mein Ab Aur Chaiye Kya Mujhko
Shaaki Bhi Hai Saj Bhi Hai Sharrab Bhi Hai

 

 

नशा ज़रूरी है ज़िन्दगी क लिए
पर सिर्फ शराब ही नहीं बे खुदी क लिए
किसी की मस्त आँखों में डूब जा सकी
बड़ा हसीं समुन्दर है खुद कुशी क लिए

 

Teri Yaad Har Pal Kyon satati Hai

      Thu Yaad Har Vakth Kyon Aati Hai

   Dard Dena Hai Tho Ek Pal Main Deja

      Ye Tufani Raate Bar-Bar Kyoun Lati Hai

 

 

कभी दिल की कमज़ोरी बन के रह जाती है
कभी वक़्त की मजबूरी बन के रह जाती है
ये मोहब्बत वो शराब है ये दोस्त
जिसे जितना पियो प्यास अधूरी ही रह जाती है

 

 

नतीजा बेवजह महफिल से उठवाने का क्या होगा
न होंगे हम तो साकी तेरे मैखाने का क्या होगा

 

 

Gham Iss Kadar Barhe Ke Ghabra Ke Pee Gaya,
Iss Dil Ki Bebasi Pe Taras Kha Ke Pee Gaya,
Thhukra Raha Tha Mujhe Badi Der Se Zamana,
Main Aaj Sab Jahaan Ko Thhukra Ke Pee Gaya

 

 

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता तेरी याद न आये ऐसा कोई शाम नहीं आता मैंने सोचा की बेवफा सनम को मशहूर कर दूँ पर इस कम्बख्त जुबान पे तेरा नाम नहीं आता.

 

 

Aaj Tak Hai Uske Laut Aane Ki Ummeed

   Aaj Tak Dhahari Hai Zindagi Apne Jagah

Lakh Yeh Chaha Ki Usse Phool Jaaye Par

   Hausle Apni Jagah Bebasi Apni Jagah 

 

 

मै बैठूंगा जरूर महफ़िल में पर पीऊंगा नही
क्योंकि मेरा ग़म मिटा दे इतनी शराब की औकात नही

 

 

tera gum samjh sakta hun mein bhi
jinda tha ek din us din mar gya
sharab band huwi jis din

 

 

Koi Miltha Hi Nahi Humse Humra Bankar

  Vho Mile Bhi Tho Ek Kinara Bankar

Har Kwab Toot Ke Bikhara Kanch Ki Tarah

   Bus Ek Inthezar Hai Saath Sahara Bakar.

 

 

शराबी इलज़ाम शराब को देता है आशिक़ इलज़ाम शबाब को देता है
कोई नहीं करता क़बूल अपनी भूल कांटा भी इलज़ाम गुलाब को देता है

 

 

Teri Yaad Ne Humhe Jeene Na Diya,

  Chain se Humko Ab Marne Na Diya;

Hum Peethe Hai Teri Yaad Main Zaalim;

   Par Iss Duniya Ne Hame Peene Na Diya.

 

 

 

इतनी पीता हूँ कि मदहोश रहता हूँ
सब कुछ समझता हूँ पर खामोश रहता हूँ
जो लोग करते हैं मुझे गिराने की कोशिश
मैं अक्सर उन्ही के साथ रहता हूँ

 

 

 

महफ़िल में इस कदर पीने का दौर था, हमको पिलाने के लिए सबका जोर था, पी गए हम इतनी यारो के कहने पर, न अपना गौर था न ज़माने का गौर था!!

 

 

Bhari Sharabi Shayari

Ye Apna Dil Bhi Ajeeb Sharabi Hai

Har Kadam Par Bas Machal Jaatha Hai

Tum Agar Chor Ki Jao Phir Tho Gham Nahi

Ye Roz Naye Maikhney Si Dil Bahalata Hai 

 

 

कुछ नशा आपकी बात का है
कुछ नशा धीमी बरसात का है
हमें आप युही शराबी मत कहिये
ये दिल पर असर आपसे पहली मुलाकात का है

 

 

Tum Kya Jano Sharab Kaise Pilayi Jati Hai,
Kholne Se Pehle Botal Hilayi Jati Hai,
Phir Aawaj Lagayi Jaati Hai Aa Jao Tute Dil Walo,
Yahan Dard-e-Dil Ki Dawa Pilayi Jati Hai.

 

 

पी के रात को हम उनको भूलने लगे
शराब में ग़म को मिलने लगे
दारू भी बेवफा निकली यारो
नशे में तो वो और भी याद आने लगे

 

 

 

ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है, आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है, पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे, कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है.

 

 

 

शराबी नाम न दो मुझको
मैं तो कभी-कभी पीता हूँ
पहली बार आया हूँ मयकदे में
रोज़ तो घर ही पर पीता हूँ

 

 

Baidai Hai Dil Main Yeh Armam Jagaaye

Ke Vho Aaj Nazarom Se APani Pilaye

Maja Tho Tab Hi Peene Ka Yaaro

Ithar Hum Piye Aur Nasha Unko Aaye.

 

 

gum is kadar mila k ghabra k pi gaya
khushi thudi si mili to mila kar pi gaya
yu to na thi humse pine ki adat
ke sharab ko tanha dekh to taras kha ke pi gaya

 

जाम तो यू ही बदनाम है यारों कभी इश्क करके देखो या तो पीना भूल जाओगे या फिर पी-पी के जीना भूल जाओगे.

 

 

मैखाने मे आऊंगा मगर पिऊंगा नही साकी
ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती

 

 

 

Dil Pe Jab Se Sharaab Ka Pehre Lag Gaya

Gam KA Andar Aane Ka Raastha Band Ho Gaya

Zubaan Ne Jab Se Sharab Ko Choo Liya

Uska Naam Hamesha Ke Liye Bhool Gaya

 

 

जाम पे जाम पिने से क्या फायदा
शाम को पी सुबह उतर जाएगी
अरे दो बूँद मेरे प्यार की पी ले
ज़िन्दगी सारी नशे में ही गुजर जाएगी

 

 

बैठे हैं दिल में ये अरमां जगाये
के वो आज नजरों से अपनी पिलाये
मजा तो तब ही आये पीने का यारो
शराब हम पियें और नशा उनको हो जाए

 

 

Nasha Har Karthe Hai

Ilzaam Sharaab Ko Diya Jaatha Hai

Magar Ilzaam Sharaab Ka Nahi Unka Hai

Jinka Chehara Humai Har Jaam Me Nazar Aatha Hai.

 

 

बीवी : जो आदमी रोज शराब पीकर आये उसके
लिए मेरे मन में कोई हमदर्दी नहीं है

पति : जिसे रोज शराब मिल जाये उसे
तुम्हारी हमदर्दी की जरुरत ही नहीं है

 

 

Meri Tabahi Ka iljaam Ab Sharab Par Hai,
Karta Bhi Kya Aur Tum Par Jo Aa Rahi Thi Baat.

 

 

Kaash Hume Koi Samjhne waala Hota

Tho Aaj Hum Itny Na  Samajh Na Hoty

Kash Koi Ishq Ka Jaam Pilany Wala Hota

To Aaj Hum Bhi Iss harab Ki Deewani Na Hoti

 

 

 

नशा हम किया करते है इलज़ाम शराब को दिया करते हैं
कसूर शराब का नहीं उनका है जिनका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं

 

 

 

मैं उनकी आँखो से छलकती शराब पीता हूँ
गरीब हो कर भी मँहगी शराब पीता हूँ
मुझे नशे में वो बहकने नहीं देते
उन्हें तो खबर ही नहीं कि मैं कितनी शराब पीता हूँ

 

 

teri yaad aaj bhi aati hai
par aisa nahi ke jiya nahi jata
tu door chali gyi hai thik hai
pass hoti tu pine mein maza nahi aata

 

 

फिर ना पीने की कसम खा लूँगा
साथ जीने की कसम खा लूँगा
एक बार अपनी आँखों से पिला दे साकी
शराफत से जीने की कसम खा लूँगा

 

 

Raath Hum Piye Hue The Magar

Aap Ki Aankom Bhi Sharaabi Thi

Fir Humare Kharab Hone Main

Aap Hi Kahiye Kya Kharabi Thi.

 

 

 

ज़िन्दगी है जीने की लिए तो जिया क्यों ना जाए
उसकी बेवफाई ने दिया मौका तो पिया क्यों ना जाए

 

 

 

Humto Jee Rhe The Unka Nam Lekar
Wo Guzarte Hmara Salam Lekar
Kal Wo Keh Gye Bhula Do Hmko
Hmne Pucha Kaise
wo Chale Gaye Hatho Me Jam Dekar

 

 

Aurathem Bhi Ajeeb Hoti Hai

Devadas Ka Shah Rukh Inhe Romantic Lagtha Hai

Aur Apna Pathi Sharaab Piye Tho Bevada Lagtha Hai. 

 

 

तेरे होठों में भी क्या खूब नशा मिला
यूँ लगता है तेरे जूठे पानी से ही शराब बनती है

 

 

Yun Bigdi Baheki Baaton Ka,
Koi Shauq Nahi Hai Mujhko,
Woh Purani Sharab Ke Jaisi Hai
Asar Sar Se Utarta Hi Nahi.

 

 

 

तेरी यादोँ के नशे मेँ अब चूर हो रहा हूँ
लिखता हूँ तुम्हेँ और मशहूर हो रहा हूँ

 

 

तुम हसीन हो गुलाब जैसी हो बहुत  नाजुक हो ख्वाब जैसी हो दिल की धड़कन में आग लगाती हो होठों से लगाकर पी जाऊँ तुम्हे सर से पांव तक शराब जैसी हो

 

 

Mujhe Udaas Dekhkar Zamaane Ne Sawaal kiya

Who Kaun Hai Tera yeh Haal Kiya

Maina Kaha Mohabbath Hai Jho Meri Unke Saath Hai

Who Nahi Saath Mera Bus Itni Si Baath Hai

 

 

मेरे हांथों में जाम के प्याले है
मेरी ज़िन्दगी तेरे हवाले है
न रौंद तू इस तरह मेरी चाहत को ज़ालिम
मेरे दिल में तेरी मोहोब्बत के छाले है

 

 

थोड़ी सी पी शराब थोड़ी सी उछाल दी,
कुछ इस तरह से हमने जवानी निकाल दी।

 

पिलाने वाले कुछ तो पिला दिया होता
शराब कम थी तो पानी मिला दिया होता!

 

 

जिगर की आग बुझे जिससे जल्द वो शय ला
लगा के बर्फ़ में साक़ी, सुराही-ए-मय ला

 

 

अब के सावन में सबका हिसाब कर दूंगा जिसका जो वाकी है वो भी हिसाब कर दूंगा और मुझे इस गिलास में ही कैद रख वरना पूरे शहर का पानी शराब कर दूंगा.

 

मोहब्बत मुझे थी उनसे इतनी
उनकी यादों में दिल तड़पता रहा
मौत भी मेरी चाहत को रोक ना सकी
कब्र में भी दिल धड़कता रहा

 

 

लोग अच्छी ही चीजों को यहाँ ख़राब कहते हैं
दवा है हज़ार ग़मों की उसे शराब कहते हैं

 

 

Dekha Kiye Woh Mast Nigahon Se Baar Baar,
Jab Tak Sharab Aayi Kayi Daur Chal Gaye.

 

दिखा के मदभरी आंखें कहा ये साकी ने,
हराम कहते हैं जिसको यह वो शराब नहीं।

 

 

मदहोश हम हरदम रहा करते हैं
और इल्ज़ाम शराब को दिया करते हैं
कसूर शराब का नही उनका है यारों
जिनका चेहरा हम हर जाम में तलाश किया करते हैं

 

 

छलकते होठो से छू के,
होठो को उन्होंने प्याला बना डाला
पास आयी कुछ वो ऐसे
जिन्दगी को उन्होंने मधुशाला बना डाला

 

 

Tum Aaj Saqi Bane Ho Toh Shahar Pyasa Hai,
Humare Daur Mein Khaali Koi Gilaas Na Tha.

 

 

 

प्यार और शराब में छोटा सा फर्क हैं
लेकिन ये फर्क बहुत बड़ा हैं
प्यार दर्द देता हैं
शराब दर्द भुला देता हैं

 

 

मैं तलख़िये हयात से घबरा के पी गया गम की सियाह रात से घबरा के पी गया इतनी दक़ीक़ से कोई कैसे समझ सके यज़्दें के वाक़ियात से घबरा के पी गया

 

 

मैं खुदा का नाम लेकर पी रहा हूँ दोस्तों,
ज़हर भी इसमें अगर होगा दवा हो जाएगा,
सब उसी के हैं, हवा, खुशबू, ज़मीनो-आसमाँ
मैं जहाँ भी जाऊँगा उसको पता हो जाएगा

 

 

ishq ka daur khatam ho gya
mere liye to sharab ka daur hai
bhari mahfil mein pike dekh liya
tanhai mein pine ka maza hi kuch aur hai

 

 

मैकदे लाख बंद करें जमाने वाले,
शहर में कम नहीं आंखों से पिलाने वाले।

 

 

छलक जाने दो पैमाने
मैखाने भी क्या याद रखेंगे
आया था कोई दिवाना
अपनी मोहब्बत को भुलाने

 

 

 

अपनी नशीली निगाहों को,
जरा झुका दीजिए जनाब
मेरे मजहब में नशा हराम है।

 

 

Peene Se Kar Chuka Tha Main Tauba Dosto,
Baadalo Ka Rang Dekh Niyat Badal Gayi.

 

महफ़िल में इस कदर पीने का दौर था
हमको पिलाने के लिए सबका जोर था
पी गए हम इतनी यारो के कहने पर
न अपना गौर था न ज़माने का गौर था

 

 

The only time I proof read is to see how much alcohol comes in a bottle.

 

 

परदा तो होश वालों से किया जाता है हुज़ूर
तुम बेनक़ाब चले आओ हम तो नशे में हैं

 

 

एक शराबी दारू पी पी कर मर गया लेकिन उसकी दारू के प्रति श्रद्धा तो देखो, वो मर के भी यह कह गया शराब तो ठीक थी, पर मेरा लिवर ही कमज़ोर निकला.

 

Water is so good when it’s mixed with grains and yeast, fermented and then distilled and aged.

 

hum to ji rahe the unka naam lekar
wo gujarte the hamara salaam le kar
kal wo keh gaye bhulado humko humne pucha kaise
wo chale gaye haaton mein jaam de kar

 

महफ़िल में चल रही थी
हमारे कत्ल की तैयारी
हम पहुँचे तो बोलें
बहुत लम्बी उम्र है तुम्हारी

 

 

चुप चाप चल रहे थे अपनी मंज़िल की ओर फिर ठेके पर नज़र पड़ी और गुमराह से हो गये हम.

 

 

महकता हुआ जिस्म तेरा गुलाब जैसा है नींद के सफर में तू ख्वाब जैसा है दो घूँट पी ले दे आँखों की मस्तियाँ नशा तेरी आँखों का शराब के जाम जैसा है

 

कभी देखेंगे ऐ जाम तुझे होठों से लगाकर
तू मुझमें उतरता है कि मैं तुझमें उतरता हूँ

 

 

If you’re going to give me dirty looks for being at the liquor store at am, don’t be open.

 

ये ना पूछ मैं शराबी क्यूँ हुआ बस यूँ समझ ले
गमों के बोझ से नशे की बोतल सस्ती लगी


Read More:-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *